• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

कविनगर में डायबिटीज पर रैली निकालकर लोगों को किया जागरूक

Posted on 2019-11-15

-इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, रोटरी क्लब ऑफ गाजियाबाद हैरिटेज, गाजियाबाद मेट्रो व आरएचएएम ने किया रैली का आयोजन
-सी-ब्लाक स्थित निष्काम डायबिटीज केयर एंड रिसर्च सेंटर पर की गई ब्लड शुगर की निशुल्क जांच
गाजियाबाद: वर्ल्ड डायबिटीज डे के मौके पर बृहस्पतिवार को कविनगर स्थित रामलीला मैदान से
डायबिटीज जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। इस दौरान सभी अपने हाथों में डायबिटीज पर स्लोगन लिखे बैनर लिए हुए थे। रैली कविनगर के विभिन्न स्थानों से होते हुए सी-डी ब्लाक स्थित निष्काम डायबिटीज केयर एंड रिसर्च सेंटर पर आकर समाप्त हुई। यहां पर ब्लड शुगर की निशुल्क जांच की गई। रैली का आयोजन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन गाजियाबाद, रोटरी क्लब ऑफ गाजियाबाद हैरिटेज, गाजियाबाद मेट्रो व आरएचएएम (संकल्प स्वास्थ्य जागरूकता अभियान) द्वारा किया गया।

 कविनगर स्थित रामलीला मैदान में बृहस्पतिवार सुबह करीब सात बजे डायबिटीज पर जागरूकता रैली निकालने के लिए सैकड़ों की संख्या में लोग एकत्र हुए। मुख्य अतिथि डिस्ट्रिक गवर्नर नोमिनी रो.अशोक अग्रवाल, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन गाजियाबाद के डा.प्रहलाद चावला, आशीष अग्रवाल, डा.राजीव गोयल, डा.पूनीत व आरएचएएम के चेयर डा.धीरज भार्गव, रोटरी क्लब ऑफ गाजियाबाद हैरिटेज के सेकेटरी संदीप मिगलानी, गाजियाबाद मेट्रो के अध्यक्ष अंशुल जैन ने हरि झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया। रैली कविनगर के बी-ब्लाक के अलावा विभिन्न इलाको से होते हुए सी-डी ब्लाक स्थित निष्काम डायबिटीज केयर एंड रिसर्च पर जाकर समाप्त हुई। यहां पर पूरे दिन ब्लड शुगर की जांच निशुल्क की गई।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन गाजियाबाद के डा.प्रहलाद ने कहा कि डायबिटीज के कारण किडनी पर शुगर का जो असर होता है उसे डायबिटिक किडनी डिजीज कहते हैं। यह प्रक्रिया बहुत तेजी से नहीं होती है बल्कि धीरे-धीरे होती है। इसके लिए सालों लग जाते हैं। इसके शुरूआत में पेशाब में प्रोटीन अधिक आने से इसका निदान होता है। जब यह बाद के स्टेज में होता है तो पैरों में सूजन, भूख कम लगना आदि लक्षण दिखाई देते हैं। अगर किडनी की बीमारी और अधिक एडवांस हो गई है और किडनी अपना काम सही से नहीं कर पा रही है। किडनी का प्रमुख काम होता है शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालना। अगर यह विषैले पदार्थ शरीर में जमा हो रहे हैं तो इसके कारण जी मचलाना, उल्टी होना, यूरिया और क्रीएटिन की मात्रा अधिक होने के लक्षण दिखाई देते हैं। अगर यह और भी एडवांस हो गई तो इसका असर कैल्शियम, हीमोग्लोबिन आदि पर असर पड़ता है।

मुख्य अतिथि डिस्ट्रिक गवर्नर नोमिनी अशोक अग्रवाल ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि डायबिटीज से बचने के लिए साल में एक बार जांच जरूर करायें। लेकिन अगर डायबिटीज के कारण कोई शुरूआती असर है तो यह जांच एक साल की बजाय 3 महीने या फिर 6 महीने में करवानी चाहिए।

 इस मौके पर संकल्प स्वास्थ्य जागरूकता अभियान के चेयर डा.धीरज कुमार भार्गव ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि डायबिटीज का असर शरीर के सभी अंगों पर होता है। इसके कारण दूसरे अंग निष्क्रिय हो सकते हैं। पैरों पर यदि असर पड़ता है तो इसके लक्षणों को आप पहले से पहचान सकते हैं। जब शरीर में ब्लड शुगर अनियंत्रित हो जाता है तो यह पैरों की नसों को प्रभावित करता है। इसके कारण तलवों में जलन, पैरों का सुन्न होना, झुनझुनाहट की समस्याए जैसे लक्षण दिखाई देने लगते हैं। इसके कारण पैरों में धीरे-धीरे बदलाव होने लगता है। कुछ मरीजों को जब वे बिना चप्पल के जमीन पर पैर रखते हैं तो गद्दे जैसा एहसास होता है। कुछ लोगों को इटैजिया यानी असंतुलन का अनुभव होता है, यह न्यूरोपैथी से जुड़े लक्षण हैं। इसके कारण पैरों में अल्सर यानी पैरों में घाव भी हो सकता है, ये ठीक होने में अधिक समय ले सकते हैं। अगर पैरों में घाव है तो इसे दोबारा होने से बचायें। इसके अलावा कुछ जांच भी कर सकते हैं, जैसे रोज पैरों को जांचें, जूते से घाव नहीं हो रहे हैं, पैरों की सफाई करना, नंगे पांव न चलना, सर्दियों में आग न सेंकना आदि सावधानी बरतनी चाहिए।

 रैली में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन गाजियाबाद के डा.प्रहलाद, डा.राजीव गोयल, डा.पूनीत गुप्ता, आशीष अग्रवाल, मुख्य अतिथि डीजीएन अशोक अग्रवाल, संकल्प स्वास्थ्य जागरूकता अभियान के चेयर डा.धीरज भार्गव के अलावा सुनील गौतम, राजेश मिश्रा, दयानंद शर्मा, अनिल छाबरा, प्रियतोष, रोटरी क्लब ऑफ मेट्रो के अध्यक्ष अंशुल जैन, रोटरी क्लब ऑफ गाजियाबाद हैरिटेज के सेकेटरी संदीप मिगलानी, अपूर्व राज, विक्रम, संजय, नरेश, दीपककांत गुप्ता सहित सैकड़ों की स

Tirupati Eye

  • National Doctors Day 2020: ये हैं धरती के भगवान, नौकरी और रिटायरमेंट के बाद भी निभा रहे हैं फर्ज भगवान के बाद धरती पर अगर किसी को भगवान का दर्जा दिया जाता है तो वह हैं डॉक्टर। जिनमें बहुत से ऐसे भी हैं जो न केवल अ


  • यूपी बॉर्डर पर फंसे करीब 5000 मजदूर, गर्भवती महिलाएं और बच्चे भूख से बेहाल कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लागू है. लॉकडाउन से सबसे ज्यादा परेशनी गरीब और मजदूर वर्ग के लोगों को उठानी पड़ रही


  • ट्रंप की नई इमिग्रेशन नीति को लेकर भारत सतर्क, नीति के ऐलान का किया जा रहा है इंतजार जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगर अपने वादे के मुताबिक नौकरी की तलाश में अमेरिका आने व


  • नहाय-खाय से शुरू हुआ आस्था का महापर्व चैती छठ, जानें मुहूर्त, पूजा विधि एवं महत्व हिंदी पंचांग अनुसार, चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की षष्ठी को चैती छठ मनाई जाती है। इस साल 28 मार्च से 31मार्च के बीच च


  • आतंकवाद को खत्‍म करने के लिए पीएम मोदी बहुत सशक्‍त: ट्रंप अगले 50 से 100 वर्षों में प्रमुख खिलाड़ी बनने जा रहा है भारत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि भारत अगले 50 से 100 वर्षों में प्रम

संता और बंता दोनों भाई एक

संता और बंता दोनों भाई एक
ही क्लास में पढ़ते थे।

अध्यापिका: तुम