• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

PF Transfer और क्लेम हुआ और आसान, अब खुद से भर सकते हैं नौकरी छोड़ने की तारीख

Posted on 2020-01-21

नई दिल्ली :  Employees' Provident Fund Organisation (EPFO) अपने सब्सक्राइबर्स और पेंशनधारकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए लगातार नए-नए कदम उठा रहा है। इसी कड़ी में विभाग ने नौकरी छोड़ने की तारीख खुद से भरने की सुविधा सब्सक्राइबर्स को दे दी है। इसका मतलब है कि नौकरी बदलने के बाद आप खुद से 'Date of Exit' भर सकेंगे। PF Transfer और PF Claim दोनों चीजों के लिए नौकरी छोड़ने की तारीख डालना अपरिहार्य होता है। इस सुविधा के लिए अब तक पीएफ सब्सक्राइबर अपनी पुराने नियोक्ता पर निर्भर रहते थे। ईपीएफओ ने इस चीज की जानकारी ट्विटर पर दी। 

EPFO की वेबसाइट पर 'Date of Exit' भरने के लिए फॉलो करें ये स्टेप्सः

  • EPFO Unified Member Portal पर जाएं और अपने UAN और पासवर्ड के जरिए लॉगिन करें।
  • इसके बाद 'Manage' सेक्शन पर जाएं। 
  • इसमें ड्रॉप डाउन लिस्ट में आपको 'Mark Exit' दिखेगा। इस पर क्लिक करें। 

 

  • इसके बाद आपको फिर से ड्रॉप डाउन लिस्ट से पीएफ अकाउंट नंबर को सेलेक्ट करना होगा। 
  • इसके बाद नौकरी छोड़ने की तारीख और कारण भरिए। इसके बाद रिक्वेस्ट ओटीपी पर क्लिक कीजिए। 
  • अब आधार से जुड़े मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी को इंटर कीजिए एवं 'Update' पर क्लिक कीजिए।
  • इसके बाद आपको एक मैसेज मिलेगा कि Date of Exit अपडेट हो गया है।

इसके बाद आप चाहें तो सर्विस हिस्ट्री सेक्शन में जाकर इस बात की पड़ताल खुद से कर सकते हैं। हालांकि, आप अपने पिछले नियोक्ता की ओर से किए गए आखिरी अंशदान यानी Contribution के दो माह बाद ही नौकरी छोड़ने की तारीख अंकित कर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि कई EPF Subscribers ने शिकायत की थी कि उनकी पुराने नियोक्ता EPFO पोर्टल पर डेट ऑफ एक्जिट भरने में उनका सहयोग नहीं कर रहे हैं। सर्विस की लगातार गणना के संदर्भ में भी Date of Exit भरना जरूरी है।

 

 

Tirupati Eye

  • इस शिवरात्रि इन 5 राशि वालों पर बरसेगी महादेव की कृपा, बनेंगे सब काम ऐसा माना जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन महादेव की पूजा और अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और जीवन में सुख-समृद्ध


  • नजीर अकबरावादी जयंती: ठाठ पड़ा रह गया, बंजारा चला गया विश्वास नहीं होता योगेश जादौन। ताजगंज की मलको गली। पुरानी भारतीय बस्तियों की एक आम गली की ही तरह। कुछ दुकानें खुली हैं, कुछ रेहडिय़ां लगी ह


  • नड्डा का केजरीवाल पर हमला, बोले- सीएम बताएं देश विरोधी लोगों का समर्थन क्यों कर रहे हैं? नई दिल्ली, पीटीआइ। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भारत


  • मेरठ में बनेगा देश का पहला गैसीफिकेशन तकनीक से बिजली बनाने का संयंत्र, सांसों के दुश्मन को अब लगेगा ‘करंट’ मेरठ,। मेरठ भूड़बराल स्थित बिजली संयंत्र में आरडीएफ (कूड़े से छांटकर निकाले प्लास्


  • त्याग और बलिदान के मिसाल हैं गुरु गोबिंद सिंह जी, जानें उनके जीवन की 10 बातें और उपदेश सिखों के 10वें गुरु गोबिंद सिंह जी की जयंती आज देशभर में धूमधाम से मनाई जा रही है। गुरु गोबिंद सिंह जी का जन्म

संता और बंता दोनों भाई एक

संता और बंता दोनों भाई एक
ही क्लास में पढ़ते थे।

अध्यापिका: तुम