• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

सुप्रीम कोर्ट ने किया साफ, अब प्राइवेट कंपनियों में पूरी सैलरी पर मिलेगी पेंशन

Posted on 2019-04-03

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने केरल हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सोमवार को एंप्लॉयीज प्रविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन (ईपीएफओ) की जिस स्पेशल लीव पिटीशन को खारिज कर दिया, उससे निजी क्षेत्र में काम करने वालों की पेंशन में बढ़ोतरी होगी, लेकिन रिटायरमेंट के वक्त मिलने वाला प्रविडेंट फंड (पीएफ) कम हो जाएगा। उसकी वजह यह है कि अधिक पेंशन के लिए पीएफ का एक हिस्सा एंप्लॉयीज पेंशन स्कीम (ईपीएस) में डाला जाएगा। केरल हाईकोर्ट ने दिसंबर 2018 के आदेश में कहा था कि ईपीएफओ एंप्लॉयीज को उनकी पूरी सैलरी के हिसाब से पेंशन दे और 15,000 रुपये मासिक की सीमा खत्म करे। यहां सैलरी का मतलब बेसिक सैलरी, महंगाई भत्ता और रिटेंशन बोनस है।
कैसे तय होगी आपकी पेंशन?
अगर आप निजी क्षेत्र में काम करने वाले ईपीएस बेनिफिशियरी हैं, तो नौकरी के आखिर के 12 महीने की ऐवरेज मंथली सैलरी के हिसाब से आपकी पेंशन तय होगी। मान लेते हैं कि 20 साल की नौकरी के बाद रिटायरमेंट के वक्त आपकी एक साल की औसत मासिक वेतन एक लाख रुपये महीना है, तो अभी तक की व्यवस्था में 2,100 रुपये की पेंशन मिलती। केरल हाईकोर्ट का फैसला बहाल होने के बाद पेंशन की रकम बढ़कर 28,571 रुपये हो जाएगी। यह 1,261% की बढ़ोतरी है।

क्या है पूरा मामला?
सरकार ने 1995 में संगठित क्षेत्र में काम करने वालों के लिए ईपीएस शुरू की थी। इसमें सभी सब्सक्राइबर्स को परमानेंट बेसिस पर पेंशन देने का वादा किया गया था। ईपीएस में कंपनी को कर्मचारी के मूल वेतन का 8.33 प्रतिशत हिस्सा डाला जाना था। इसके बाद इसे 6,500 रुपये का 8.33 पर्सेंट कर दिया गया। फिर सरकार ने ईपीएस के नियमों में बदलाव किया और कहा कि अगर कंपनी और कर्मचारी सहमत हों, तो कर्मचारी अपनी सैलरी का कितना भी प्रतिशत ईपीएस में जमा करवा सकता है। ईपीएस कानून में 2014 में फिर संशोधन हुआ और इस बा

Tirupati Eye

  • यूपी बॉर्डर पर फंसे करीब 5000 मजदूर, गर्भवती महिलाएं और बच्चे भूख से बेहाल कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लागू है. लॉकडाउन से सबसे ज्यादा परेशनी गरीब और मजदूर वर्ग के लोगों को उठानी पड़ रही


  • ट्रंप की नई इमिग्रेशन नीति को लेकर भारत सतर्क, नीति के ऐलान का किया जा रहा है इंतजार जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगर अपने वादे के मुताबिक नौकरी की तलाश में अमेरिका आने व


  • नहाय-खाय से शुरू हुआ आस्था का महापर्व चैती छठ, जानें मुहूर्त, पूजा विधि एवं महत्व हिंदी पंचांग अनुसार, चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की षष्ठी को चैती छठ मनाई जाती है। इस साल 28 मार्च से 31मार्च के बीच च


  • आतंकवाद को खत्‍म करने के लिए पीएम मोदी बहुत सशक्‍त: ट्रंप अगले 50 से 100 वर्षों में प्रमुख खिलाड़ी बनने जा रहा है भारत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि भारत अगले 50 से 100 वर्षों में प्रम


  • इस शिवरात्रि इन 5 राशि वालों पर बरसेगी महादेव की कृपा, बनेंगे सब काम ऐसा माना जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन महादेव की पूजा और अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और जीवन में सुख-समृद्ध

संता और बंता दोनों भाई एक

संता और बंता दोनों भाई एक
ही क्लास में पढ़ते थे।

अध्यापिका: तुम