• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

अर्थव्‍यवस्‍था में मंदी और सुस्‍ती के क्‍या होते हैं मायने, ये आंकड़े होते हैं इकोनॉमी के आईने

Posted on 2019-09-02

 पिछले कुछ समय से अर्थव्यवस्था में सुस्ती की चर्चा शुरू हो गई है। बीते दिनों कई सेक्टर्स में जॉब कट की खबरें सामने आईं। ऐसे में हर जगह मंदी और सुस्ती जैसे शब्दों का इस्तेमाल होने लगा है। यहां हम आपको मंदी और सुस्ती के तकनीकी मायने बता रहे हैं। तकनीकी भाषा में मंदी का मतलब है लगातार दो तिमाहियों के दौरान अर्थव्यवस्था में संकुचन (Contraction)। जबकि मौजूदा समय में हमारी जीडीपी में ग्रोथ तो हो रही है, लेकिन ग्रोथ रेट में लगातार गिरावट है। इसीलिए इसे मंदी नहीं कहा जा सकता है। हालांकि, इस स्थिति को सुस्ती कहना कुछ हद तक जायज है क्योंकि आर्थिक क्रियाकलापों की गति लगातार धीमी हो रही है। शुक्रवार 30 अगस्त को CSO द्वारा जारी GDP के आंकड़े भी इस बात के गवाह हैं कि अर्थव्यवस्था के कई सेक्टरों की ग्रोथ रेट में बड़ी गिरावट आई है। 

सरकार के प्रयास से बेहतर होंगे हालात
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इकोनॉमी की ग्रोथ रेट को बूस्ट करने के लिए '32 सूत्रीय' योजना की घोषणा की है। इसमें बैंकिंग से लेकर ऑटो जैसे अधिकांश सेक्‍टर्स के लिए राहत की घोषणाएं हैं। इसकी जरूरत इसलिए पड़ी, क्‍योंकि बिस्कुट बनाने वाली कंपनी Parle ने जीएसटी के बढ़े रेट से नुकसान की बात की। ब्रिटानिया ने भी अपने प्रोडक्ट के वजन को कम करने की बात कही थी। असम के चाय उद्योग की तरफ से भी सरकार से मदद की अपील की गई। टेक्सटाइल उद्योग ने बाकायदा अखबार में विज्ञापन निकलवाकर अपनी बदहाली की दशा बयां की थी। ऑटो कंपनियों की बिक्री कम हो रही है। इसी बीच कंपनियों की तिमाही रिपोर्ट भी आने लगी जिसमें कई कंपनियों ने अपने वहां नुकसान या फिर मुनाफे में कमी दिखाया था। 

निर्मला सीतारमण के इस फैसले के कुछ ही दिन बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेड़कर और पीयूष गोयल ने किसानों के

Tirupati Eye

  • National Doctors Day 2020: ये हैं धरती के भगवान, नौकरी और रिटायरमेंट के बाद भी निभा रहे हैं फर्ज भगवान के बाद धरती पर अगर किसी को भगवान का दर्जा दिया जाता है तो वह हैं डॉक्टर। जिनमें बहुत से ऐसे भी हैं जो न केवल अ


  • यूपी बॉर्डर पर फंसे करीब 5000 मजदूर, गर्भवती महिलाएं और बच्चे भूख से बेहाल कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लागू है. लॉकडाउन से सबसे ज्यादा परेशनी गरीब और मजदूर वर्ग के लोगों को उठानी पड़ रही


  • ट्रंप की नई इमिग्रेशन नीति को लेकर भारत सतर्क, नीति के ऐलान का किया जा रहा है इंतजार जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगर अपने वादे के मुताबिक नौकरी की तलाश में अमेरिका आने व


  • नहाय-खाय से शुरू हुआ आस्था का महापर्व चैती छठ, जानें मुहूर्त, पूजा विधि एवं महत्व हिंदी पंचांग अनुसार, चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की षष्ठी को चैती छठ मनाई जाती है। इस साल 28 मार्च से 31मार्च के बीच च


  • आतंकवाद को खत्‍म करने के लिए पीएम मोदी बहुत सशक्‍त: ट्रंप अगले 50 से 100 वर्षों में प्रमुख खिलाड़ी बनने जा रहा है भारत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि भारत अगले 50 से 100 वर्षों में प्रम

संता और बंता दोनों भाई एक

संता और बंता दोनों भाई एक
ही क्लास में पढ़ते थे।

अध्यापिका: तुम