• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

एशिया के सबसे बड़े पशु मेले के लिए मशहूर है यह जगह, जिसे देखने देश-विदेश से आते हैं सैलानी

Posted on 2019-11-21

एशिया में पशु व्यापार के लिए सबसे बड़े मेले के रूप में ख्यातिलब्ध सोनपुर मेले की शुरुआत इस साल कुछ दिन पहले ही यानी कार्तिक पूर्णिमा से हुई है। कार्तिक पूर्णिमा के स्नान के बाद लोग उत्सवधर्मिता को जीते हैं। वैशाली के जिला मुख्यालय हाजीपुर से करीब 5 किलोमीटर में सजने वाले इस मेले में देश के साथ-साथ विदेशी पर्यटकों का खूब जुटान होता है। बिहार में इस समय धान की कटाई होती है। किसान दूसरी फसल की तैयारी में होते हैं। यह मेला एक माह तक चलता है। इस साल यह 11 दिसंबर तक चलेगा। 

मेले की ऐतिहासिकता: सोनपुर गंडक नदी के तट पर बसा है। हरिहर (विष्णु-शिव) के पूजन के नाम पर इस क्षेत्र का नाम हरिहर क्षेत्र पड़ा। पौराणिक मान्यता है कि वैष्णव (विष्णु को मानने वाले) और शैव (शिव को मानने वाले) संप्रदायों में संघर्ष होता रहता था। यहां हुए दोनों संप्रदायों के प्रतिनिधियों के सम्मेलन के बाद यह संघर्ष स्थगित हुआ। हरिहरनाथ की प्राणप्रतिष्ठा का आधार इन संघर्षों के अंत की स्मृति का द्योतक है।
हर तरफ है ख्याति: मेले की ख्याति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राज कपूर की चर्चित फिल्म 'तीसरी कसम' की कथाभूमि में भी इस मेले की छाया है। हिंदी की कौन कहे, कुछ साल पहले आई मलयालम की एक्शन थ्रिलर फिल्म 'थिरुवमबड़ी थम्बन' में दिखाया गया था कि नायक का परिवार केरल में हाथियों के व्यापार से जुड़ा हुआ है। फिल्म का क्लाइमेक्स दिखाता है कि नायक सोनपुर मेले से एक हाथी खरीद कर घर आ रहा है। हालांकि अब हाथियों की खरीद-बिक्री प्रतिबंधित कर दी गई है, लेकिन कहा जाता है कि आजादी से पहले करीब दो हजार हाथी हरिहरक्षेत्र के इस मेले में आते थे। तब अंग्रेज और राजा-महाराजाओं की सेना के लिए हाथियों की खरीद बड़ी संख्या में होती थी। देश में नई रे

Tirupati Eye

  • यूपी बॉर्डर पर फंसे करीब 5000 मजदूर, गर्भवती महिलाएं और बच्चे भूख से बेहाल कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लागू है. लॉकडाउन से सबसे ज्यादा परेशनी गरीब और मजदूर वर्ग के लोगों को उठानी पड़ रही


  • ट्रंप की नई इमिग्रेशन नीति को लेकर भारत सतर्क, नीति के ऐलान का किया जा रहा है इंतजार जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगर अपने वादे के मुताबिक नौकरी की तलाश में अमेरिका आने व


  • नहाय-खाय से शुरू हुआ आस्था का महापर्व चैती छठ, जानें मुहूर्त, पूजा विधि एवं महत्व हिंदी पंचांग अनुसार, चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की षष्ठी को चैती छठ मनाई जाती है। इस साल 28 मार्च से 31मार्च के बीच च


  • आतंकवाद को खत्‍म करने के लिए पीएम मोदी बहुत सशक्‍त: ट्रंप अगले 50 से 100 वर्षों में प्रमुख खिलाड़ी बनने जा रहा है भारत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि भारत अगले 50 से 100 वर्षों में प्रम


  • इस शिवरात्रि इन 5 राशि वालों पर बरसेगी महादेव की कृपा, बनेंगे सब काम ऐसा माना जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन महादेव की पूजा और अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और जीवन में सुख-समृद्ध

संता और बंता दोनों भाई एक

संता और बंता दोनों भाई एक
ही क्लास में पढ़ते थे।

अध्यापिका: तुम