• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 व 35ए खत्म, ये होंगे बदलाव

Posted on 2019-08-06

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने के बहुप्रतीक्षित फैसले पर केंद्र सरकार ने मुहर लगा दी है। इसके साथ ही राज्य में लागू 35ए (विशेष नागरिकता अधिकार) भी स्वतः समाप्त हो गया है। राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद केंद्र सरकार ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 और 35ए, खत्म होने की सूचना संसद में दी। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पहले राज्यसभा और फिर लोकसभा में अनुच्छेद-370 व 35ए को खत्म करने की जानकारी दी। जानें- जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 व 35ए खत्म होने का क्या मतलब है और इससे आपको क्या अधिकार मिलेगें। अनुच्छेद-370 व 35ए खत्म होते ही राजनीतिक हलकों में हंगामा मचा हुआ है। जहां कुछ राजनेता इसे एक देश-एक संविधान बता रहे हैं। वहीं  ज्यादातर विपक्षी दल इसका विरोध कर रहे हैं। जानकारों का भी मानना है कि अनुच्छेद-370 व 35ए खत्म होने के बाद जम्मू-कश्मीर सही मायनों में भारत का अभिन्न अंग हो गया है। देश के अन्य राज्यों के लोगों के लिए ये बहुत बड़ी  खुशखबरी है, जिसका इंतजार देश को आजादी के बाद से था।

अनुच्छेद-370 व 35ए खत्म होने से होंगे ये परिवर्तन
1. अब जम्मू-कश्मीर में देश के अन्य राज्यों के लोग भी जमीन लेकर बस सकेंगे।
2. कश्मीर का अब अलग झंडा नहीं होगा। मतलब वहां भी अब तिरंगा शान से लहराएगा।
3. अनुच्छेद-370 के साथ ही जम्मू-कश्मीर का अलग संविधान भी इतिहास बन गया है। अब वहां भी भारत का संविधान लागू होगा।
4. जम्मू-कश्मीर में स्थानीय लोगों की दोहरी नागरिकता समाप्त हो जाएगी।
5. जम्मू-कश्मीर के दो टुकड़े कर दिए गए हैं। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख अब अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश होंगे।
6. अब अनुच्छेद-370 का खंड-1 केवल लागू रहेगा। शेष खंड समाप्त कर दिए गए हैं। खंड-1 भी राष्ट्रपति द्वारा लागू किया गया था। राष्ट्रपति द्वारा इसे भी हटाया जा सकता है। अनुच्छेद 370 के खंड-1 के मुताबिक जम्मू और कश्मीर की सरकार से सलाह कर राष्ट्रपति, संविधान के विभिन्न अनुच्छेदों को जम्मू और कश्मीर पर लागू कर सकते हैं।
7. जम्मू-कश्मीर में विधानसभा होगी, लेकिन लद्दाख में विधानसभा नहीं होगी। मतलब जम्मू-कश्मीर में राज्य सरकार बनेगी, लेकिन लद्दाख की कोई स्थानीय सरकार नहीं होगी।
8. जम्मू-कश्मीर की लड़कियों को अब दूसरे राज्य के लोगों से भी शादी करने की स्वतंत्रता होगी। दूसरे राज्य के पुरुष से शादी करने पर उनकी नागरिकता खत्म नहीं होगी।
9. अनुच्छेद-370 में पहले भी कई बदलाव हुए हैं। 1965 तक जम्मू और कश्मीर में राज्यपाल की जगह सदर-ए-रियासत और मुख्यमंत्री की जगह प्रधानमंत्री हुआ करता था।

10. अनुच्छेद-370 को खत्म करने की मंजूरी राष्ट्रपति ने पहले ही दे दी थी। दरअसल ये अनुच्छेद पूर्व में राष्ट्रपति द्वारा ही लागू किया गया था। इसलिए इसे खत्म करने के लिए संसद से पारित कराने की आवश्यकता नहीं थी।

Tirupati Eye

  • बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी पर अंतरराष्‍ट्रीय शूटर वर्तिका सिंह ने किया हमला बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी पर अंतरराष्ट्रीय शूटर वर्तिका सिंह ने हमला किया। बताया जा रहा ह


  • नोएडा-ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद रूट पर रोडवेज बढाएगा 18 बसें नोएडाः उत्तर प्रदेश परिवहन निगम का नोएडा डिपो यात्रियों की सुविधा के लिए गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा और दिल्ली रूट पर करीब 18 बसें बढ़ाए


  • हेलीकॉप्टर से कांवड़ियों पर होगी पुष्प वर्षा नोएडा और गाजियाबाद में बुधवार से कांवड़ यात्रा शुरू हो जाएगी। आतंकी हमले के इनपुट के चलते यात्रा के दौरान एनएसजी के जवान और एटीएस की टीमें तैनात


  • Tension over eviction drive in Indirapuram GHAZIABAD: The city saw 374 road accidents, which led to 151 fatalities, in the first five months of 2019. However, this is the lowest figure for this period since 2017, according to data from Ghaziabad traffic police.


  • यमुना को प्रदूषित करने वाली 20 इकाइयों पर लगेगा 50 लाख जुर्माना गाजियाबाद: औद्योगिक क्षेत्रों से निकलने वाले दूषित जल से प्रदूषित होती यमुना को बचाने के लिए पानी के नमूने लिए गए, जिनमें 20 इकाइयो

संता Vs पल्स पोलिओ टीम

पल्स पोलिओ टीम घर आयी…
संता (बीबी से):  बंदूक और कारतुस कह