• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

Jammu Kashmir: सुप्रीम कोर्ट में बोले सॉलीसिटर जनरल, 70 साल बाद अधिकार छीने नहीं गए बल्कि दिए गए

Posted on 2019-11-21

नई दिल्ली:  सुप्रीम कोर्ट नें धारा 370 हटाए जाने के बाद लगाए गए प्रतिबंधों को लेकर सुनवाई शुरू की। सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि लोगों की सुरक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है। किसी भी शख्स के अधिकारों का हनन नहीं होना चाहिए, लेकिन संप्रभुता और अखंडता को खतरे में नहीं ड़ाला जा सकता है। उन्होंने कहा कि 70 साल बाद अनुच्छेद 370 हटाया गया है। जम्मू से 70 साल बाद अधिकार छीने नहीं गए हैं बल्कि दिए गए हैं। बता दें कि जम्मू कश्मीर में इंटरनेट सेवा व अन्य प्रतिबंधों को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई चल रही है।

तीन सदस्यीय पीठ ने सॉलिसिटर जनरल से कहा कि आपको याचिकाकर्ताओं के हर सवाल का जवाब देना होगा। आपके जवाबों से हम असंतुष्ट हैं और आपके जवाबों से हम किसी नतीजे पर पहुंचने में सफल नहीं हुए हैं।
 

Tirupati Eye

  • यूपी बॉर्डर पर फंसे करीब 5000 मजदूर, गर्भवती महिलाएं और बच्चे भूख से बेहाल कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लागू है. लॉकडाउन से सबसे ज्यादा परेशनी गरीब और मजदूर वर्ग के लोगों को उठानी पड़ रही


  • ट्रंप की नई इमिग्रेशन नीति को लेकर भारत सतर्क, नीति के ऐलान का किया जा रहा है इंतजार जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगर अपने वादे के मुताबिक नौकरी की तलाश में अमेरिका आने व


  • नहाय-खाय से शुरू हुआ आस्था का महापर्व चैती छठ, जानें मुहूर्त, पूजा विधि एवं महत्व हिंदी पंचांग अनुसार, चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की षष्ठी को चैती छठ मनाई जाती है। इस साल 28 मार्च से 31मार्च के बीच च


  • आतंकवाद को खत्‍म करने के लिए पीएम मोदी बहुत सशक्‍त: ट्रंप अगले 50 से 100 वर्षों में प्रमुख खिलाड़ी बनने जा रहा है भारत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि भारत अगले 50 से 100 वर्षों में प्रम


  • इस शिवरात्रि इन 5 राशि वालों पर बरसेगी महादेव की कृपा, बनेंगे सब काम ऐसा माना जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन महादेव की पूजा और अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और जीवन में सुख-समृद्ध

संता और बंता दोनों भाई एक

संता और बंता दोनों भाई एक
ही क्लास में पढ़ते थे।

अध्यापिका: तुम