• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

RHAM : फादर एंजल अनाथालय में निशुल्क दी 550 सेनेटरी नैपकिन

Posted on 2019-05-06

ग्रेटर नोएडा: रोटरी हेल्थ अवेयरनेस मिशन के तत्वावधिान में रोटरी क्लब ऑफ इंदिरापुरम गैलोर व इन्टरेक्ट क्लब ऑफ लाॅटस वैली इंटरनेशनल स्कूल नोएडा द्वारा बृृहस्पतिवार को ग्रेटर नोएडा स्थित फादर एंजल स्कूल के अंदर बने अनाथालय में छात्राओं को निशुल्क 550 सेनेटरी नैपकिन दी गई। साथ ही छात्राओ को नैपकिन के प्रयोग करने से होने वाले फायदे के बारे में भी बताया गया। इस दौरान आवश्यकता होने पर अनाथालय को सेनेटरी नैपकिन उपलब्ध कराई जाएगी। वहीं आरएचएएम का उद्देश्य जून 2020 तक एक लाख निशुल्क सेनेटरी नैपकिन बांटने का है। 
इस दौरान लाॅटस वैली इंटरनेशनल स्कूल की कोर्डिनेटर अंजलि बावा ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि सेनेटरी नैपकिन महिलाओं की अनिवार्य जरूरतों में से एक है। इसका कोई विकल्प नहीं हो सकता। मासिक धर्म के दौरान संक्रमण से बचाने के लिए ही नहीं स्वच्छता की दृष्टि से भी सेनेटरी नैपकिन के इस्तेमाल को बढ़ावा देना जरूरी है। इसके लिए जागरूक होना जरूरी है। उन्होंने छात्राओं को कहा कि हर 6 घंटे के बाद अपनी सेनेटरी नैपकिन को बदलते रहे। पूरे दिन एक ही नैपकिन के प्रयोग से संक्रमण या रैशेस हो सकते हैं। कुछ माहवारी के शुरुआती दिनों में सेनेटरी नैपकिन के साथ-साथ कपडे का भी उपयोग करती हैं। ऐसा बिल्कुल न करें। इससे स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं हो जाती है। प्रयोग करने के बाद सेनेटरी नैपकिन को ठीक तरह से डिस्पोज ऑफ करें क्योंकि इससे भी संक्रमण हो सकता है। इसे किसी बैग या पेपर में अच्छे से लपेटकर कूड़ेदान में डालें। नैपकिन को कभी भी टॉयलेट में फ्लश न करें। सेनेटरी नैपकिन से होने वाले रैशेस से बचने के लिए शरीर के इस भाग को हमेशा सूखा रखें। टेलकम पाउडर का प्रयोग करें इससे जिस भाग में सेनेटरी नैपकिन लगाया जाता हैं उसमे नमी नही होती जिससे वो भाग साफ रहता हैं। नए सेनेटरी नैपकिन लगाने से पहले उस भाग को हमेशा साफ करें। इस भाग को साफ करने के लिए किसी तरह के साबुन का प्रयोग न करें। उन्होंने कहा कि सेनेटरी नैपकिन का प्रयोग करते समय इन बातों का ख्याल रखें और खुद भी स्वस्थ रहें और इसके कारण किसी भी तरह के संक्रमण को न फैलने दें।

 रोटरी हेल्थ अवेयरनेस मिशन के चेयर डा.धीरज भार्गव ने कहा कि सभी को महिला स्वास्थ्य के प्रति सोचना होगा। इसी को ध्यान में रखते हुए जून 2010 तक एक लाख निशुल्क सेनेटरी नैपकिन बांटी जाएगी। रोटरी हेल्थ अवेयरनेस मिशन के तहत इसी पर काम किया जा रहा है। विभिन्न स्कूलों में अब तक कई सेनेटरी नैपकिन वैडिंग मशीन भी लगाई जा चुकी है। इसके अलावा स्कूलों को निशुल्क नैपकिन दी जा ही है। नैपकिन के उपयोग से छात्राओं में जागरूकता आएगी साथ उनके स्वास्थ्य से जुड़े खतरे भी कम होंगे। यह किसी से छिपा नहीं है कि माहवारी के दौरान सेनेटरी नैपकिन्स का प्रयोग न करने के कारण भारत में महिलाएं कई तरह के संक्रमण का शिकार होती हैं। यह संक्रमण महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़ी एक बड़ी समस्या बना हुआ है। इसके चलते गर्भाशय के कैंसर तक के मामले सामने आ रहे हैं। तभी ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को सेनेटरी नैपकिन इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इस दौरान फादर एंजल अनाथालय की सिस्टर नीलिमा भी मौजूद रहीं।

Tirupati Eye

  • आपरेशन ऑल आउट में 65 वाहन किए गए सीज गाजियाबाद : जिले में बढ़ती लूट व चेन स्नेचिग की घटनाओं को देखते हुए बुधवार रात को आपरेशन ऑल आउट पुलिस के द्वारा चलाया गया। इस दौरान पूरे शहर की पुलिस सड़कों पर


  • शास्त्रीनगर में जीडीए ने उद्घाटन से पहले सील की दुकान गाजियाबाद: जीडीए ने सोमवार को शास्त्रीनगर के रिहायशी क्षेत्र में उद्घाटन होने से पहले दुकान को सील कर दिया। जीडीए टीम कुछ दिनों बाद दुक


  • कूड़ा गाड़ियों पर लगे लाउड स्पीकर से हो रहा ध्वनि प्रदूषण, एनजीटी पहुंचा मामला गाजियाबाद: नगर निगम की कूड़ा गाडियों के संबंध में डाली गई याचिका एनजीटी ने स्वीकार कर ली है। याचिकाकर्ता वेद प्रका


  • गर्दन की जगह नाक का कर दिया महिला का एक्स-रे गाजियाबाद: जिला एमएमजी अस्पताल में मंगलवार को एक्स-रे कराने आईं महिला ने हंगामा किया। हंगामे के दौरान महिला ने एक्स-रे कर रहे टेक्नीशियन और एक्स-रे


  • मेट्रो के दरवाजे में फंसी साड़ी, खिंचती चली गई महिला नई दिल्ली: दिल्ली मेट्रो के एक स्टेशन पर मंगलवार सुबह दिल दहला देने वाला कुछ ऐसा वाकया हुआ जिसमें एक महिला की जान पर बन आई। यह मंजर जिसने भी द

संता Vs पल्स पोलिओ टीम

पल्स पोलिओ टीम घर आयी…
संता (बीबी से):  बंदूक और कारतुस कह