• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

संकल्प स्वास्थ्य जागरूकता अभियान ने एवरग्रीन पब्लिक स्कूल में लगाया निशुल्क मेडिकल चैकअप कैंप, 475 छात्रों की हुई स्वास्थ्य जांच

Posted on 2020-01-23

पूर्वी दिल्ली: एवरग्रीन पब्लिक स्कूल वसुंधरा एंकलेव में बृहस्पतिवार को संकल्प स्वास्थ्य जागरूकता अभियान द्वारा निशुल्क मेडिकल चैकअप कैंप का आयोजन किया गया। जिसमें मैक्स अस्पताल वैशाली के दंत, नेत्र व बाल रोग चिकित्सक ने 475 छात्रों के दांत, आंख, बीपी, आरबीएस, लंबाई व वजन की जांच की। इस दौरान चिकित्सकों ने छात्रों को खान-पान के बारे में भी बताया। शिविर में रोटरी क्लब ऑफ ईस्ट एंड और इंदिरापुरम गैलोर ने भी सहयोग किया।
 
बाल रोग चिकित्सक डा.अंकिता ने बताया कि 200 छात्रों के स्वास्थ्य की जांच की गई। उन्होंने बताया कि सर्दी, जुकाम, बुखार आदि समस्याएं सर्दियों के मौसम में आम होती हैं। जो बच्चे बदलते मौसम में शरीर की जरूरतों का बिल्कुल ध्यान नहीं रखते, उन्हें कई बीमारियां अपनी चपेट में ले लेती है। बच्चों की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है। जिससे सर्दी-जुकाम उन्हें जल्दी पकड़ लेते है। संक्रमण वाली इस बीमारी के वारयस से बचने के लिए साफ-सफाई का खास ध्यान रखना चाहिए। टॉन्सिलाइटिस भी एक ऐसी ही बीमारी है। बच्चों में पाई जाने वाली यह आम समस्या भी टॉन्सिल में संक्रमण के कारण होती है। गले में काफी दर्द होता है। खाना खाने में दिक्कत होती है, तेज बुखार भी हो सकता है। यह बैक्टीरियल या वायरल संक्रमण से हो सकता है। इससे बचे रहने के लिए इस मौसम में ठंडी चीजों का प्रयोग करने से बचें। गर्म भोजन और गुनगुने पानी का प्रयोग करें।

दंत चिकित्सक डा.ईशा गुप्ता ने 225 छात्रों के दांतों की जांच की। ज्यादतर बच्चों के दांत सही पाए गए। उन्होंने छात्रों को बताया कि दांतों व मसूड़ों को स्वस्थ रखने के लिए मुंह की नियमित सफाई करें। सुबह-शाम ब्रुश करें। खाने के बाद कुल्ला जरूर करें। यदि हम शुरू से ही अपने दांतों की देखभाल करेंगे तो दांत दर्द, मसूड़े खराब होना, दुर्गंध आना, पायरिया, दांतों में पीलापन आदि सभी समस्याओं से बचे रहेंगे। जीभ की सफाई भी जरूर करें। यदि जीभ गंदी रह जाएगी तो उस पर बैक्टीरिया पनप सकते हैं जोकि मुंह की दुर्गंध का कारण बनते है।

नेत्र चिकित्सक डा.अमीर खान ने करीब 250 छात्रों की आंखों की जांच की। उन्होंने बच्चों को अपनी आंखो का ध्यान रखने की सलाह दी। उन्होंने बच्चों से कहा कि वे 24 घंटे में सिर्फ 2 घंटे ही मोबाइल और टीवी का इस्तेमाल करें। उन्होंने बताया कि ज्यादातर बच्चों की पहली पसंद टेलीविजन, वीडियो गेम्स और कंप्यूटर ही बन गए है। टेलीविजन और वीडियो गेम्स के सामने बैठे वह अपने शरीर को बिलकुल भी हिलाना पसंद नहीं करते। लेकिन यह पैरेंट्स की जिम्मेदारी बनती हैं कि वह अपने बच्चों के स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखें। बच्चे के शरीर की तरह उनकी आंखें भी बहुत कोमल होती है। अगर छोटी उम्र में ही चश्मा लग जाएं तो पूरी उम्र उससे छुटकारा नहीं मिलता। बार-बार आंखों को मलना यह बच्चों की कमजोर नजर की निशानी होती है। अगर बच्चे को टीवी देखते या पढ़ाई करते समय सिर दर्द हो तो यह आई साइड विक की निशानी हो सकती है। यदि बच्चा एक आंख बंद करके टीवी देखें या वीडियो गेम खेले तो समझ लें कि उसे चश्मा लगने वाला है। बच्चे को दूर से कोई चीज साफ ना नजर आए और वह उसे देखने के लिए बहुत करीब आए तो बच्चे की नजर जरूर चैक करवाएं।
 

इस दौरान संकल्प स्वास्थ्य जागरूकता अभियान के चेयर डा.धीरज कुमार भार्गव, रोटरी क्लब ऑफ ईस्ट एंड के अध्यक्ष अनिल छाबरा, सचिव दयांनद शर्मा, असिस्टेंट गवर्नर प्रदीप गोयल, अपूर्व राज, राजेश मिश्रा, अशोक शर्मा, एम यादव आदि ने शिविर में सहयोग किया। 

Tirupati Eye

  • इस शिवरात्रि इन 5 राशि वालों पर बरसेगी महादेव की कृपा, बनेंगे सब काम ऐसा माना जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन महादेव की पूजा और अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और जीवन में सुख-समृद्ध


  • नजीर अकबरावादी जयंती: ठाठ पड़ा रह गया, बंजारा चला गया विश्वास नहीं होता योगेश जादौन। ताजगंज की मलको गली। पुरानी भारतीय बस्तियों की एक आम गली की ही तरह। कुछ दुकानें खुली हैं, कुछ रेहडिय़ां लगी ह


  • नड्डा का केजरीवाल पर हमला, बोले- सीएम बताएं देश विरोधी लोगों का समर्थन क्यों कर रहे हैं? नई दिल्ली, पीटीआइ। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भारत


  • मेरठ में बनेगा देश का पहला गैसीफिकेशन तकनीक से बिजली बनाने का संयंत्र, सांसों के दुश्मन को अब लगेगा ‘करंट’ मेरठ,। मेरठ भूड़बराल स्थित बिजली संयंत्र में आरडीएफ (कूड़े से छांटकर निकाले प्लास्


  • त्याग और बलिदान के मिसाल हैं गुरु गोबिंद सिंह जी, जानें उनके जीवन की 10 बातें और उपदेश सिखों के 10वें गुरु गोबिंद सिंह जी की जयंती आज देशभर में धूमधाम से मनाई जा रही है। गुरु गोबिंद सिंह जी का जन्म

संता और बंता दोनों भाई एक

संता और बंता दोनों भाई एक
ही क्लास में पढ़ते थे।

अध्यापिका: तुम