• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

रोटरी क्लब ऑफ इंदिरापुरम गैलोर ने जरूरतमंदों को बांटी खाद्य सामग्री

Posted on 2020-04-13

इंदिरापुरम : रोटरी क्लब ऑफ इंदिरापुरम गैलोर ने बृहस्पतिवार को इंदिरापुरम में बनी झुग्गी-झोपडिय़ों में 550 लोगों को खाद्य सामग्री वितरित की। क्लब के चेयरमैन डा.धीरज भार्गव ने बताया कि लॉकडाउन के बाद झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले लोगों को खाने-पीने के लिए काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उनके घर में मौजूद राशन तक खत्म हो गये है। इसको देखते हुए बृहस्पतिवार को इंदिरापुरम में शमशान घाट के पास बनी झुग्गियों व बिल्डर साइटों पर रहने वाले मजदूरों को खाने के पैकेट वितरित किए गए। उन्होंने बताया कि जब तक लॉकडाउन रहेगा किसी जरूरतमंद को भूखा नहीं सोने दिया जाएगा। इस दौरान नीरज वत्स, अनिल जैन, राकेश पवाहा, राजेश कुमार, अजीत शर्मा, राकेश वशिष्ठ, अनिल वर्मा, मनोज जैन, सुभाष नवानी, मधुसूदन शर्मा, सुभाष पांडेय, समीर आनंद आदि ने सहयोग किया।

Tirupati Eye

  • यूपी बॉर्डर पर फंसे करीब 5000 मजदूर, गर्भवती महिलाएं और बच्चे भूख से बेहाल कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लागू है. लॉकडाउन से सबसे ज्यादा परेशनी गरीब और मजदूर वर्ग के लोगों को उठानी पड़ रही


  • ट्रंप की नई इमिग्रेशन नीति को लेकर भारत सतर्क, नीति के ऐलान का किया जा रहा है इंतजार जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगर अपने वादे के मुताबिक नौकरी की तलाश में अमेरिका आने व


  • नहाय-खाय से शुरू हुआ आस्था का महापर्व चैती छठ, जानें मुहूर्त, पूजा विधि एवं महत्व हिंदी पंचांग अनुसार, चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की षष्ठी को चैती छठ मनाई जाती है। इस साल 28 मार्च से 31मार्च के बीच च


  • आतंकवाद को खत्‍म करने के लिए पीएम मोदी बहुत सशक्‍त: ट्रंप अगले 50 से 100 वर्षों में प्रमुख खिलाड़ी बनने जा रहा है भारत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि भारत अगले 50 से 100 वर्षों में प्रम


  • इस शिवरात्रि इन 5 राशि वालों पर बरसेगी महादेव की कृपा, बनेंगे सब काम ऐसा माना जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन महादेव की पूजा और अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और जीवन में सुख-समृद्ध

संता और बंता दोनों भाई एक

संता और बंता दोनों भाई एक
ही क्लास में पढ़ते थे।

अध्यापिका: तुम