• For Ad Booking:
  • +91 9818373200, 9810522380
  •  
  • Email Us:
  • news@tbcgzb.com
  •  
  • Download e-paper
  •  
  •  

शेयर बाजार में बढ़ते जोखिम के बीच इस दिवाली गोल्ड में लगाएं पैसा


दिल्ली : दिवाली के मौके पर सोना खरीदना शुभ माना जाता है। कुछ लोग इसे शगुन के तौर पर खरीदते हैं तो कुछ निवेश के लिहाज से। इक्विटी बाजार ने पिछले कुछ महीनों के दौरान जिस तरह से गोता लगाया है, वैसी स्थिति में निवेशकों की नजर अपेक्षाकृत सुरक्षित विकल्प पर जाकर टिक गई है। आम तौर पर शेयर बाजार में जब अनिश्चितता की स्थिति गहराने लगती है तब निवेशक गोल्ड समेत अन्य बुलियन में निवेश का सुरक्षित रास्ता तलाशने लगते हैं।
निवेश के लिहाज से देखा जाए तो शेयर बाजार में जोखिम गहराने लगा है। इस साल सेंसेक्स अभी तक 6 फीसद से अधिक टूट चुका है। ऐसी स्थिति में निवेशकों के लिए गोल्ड क्या सुरक्षित विकल्प हो सकता है? 
विशेषज्ञों के मुताबिक सोने की कीमतों को लेकर आगे आउटलुक बेहतर है और आने वाले समय में इसकी कीमतों में 12 से 15 फीसद का इजाफा हो सकता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि मौजूदा समय सोने में निवेश के लिहाज से बेहतर दिख रहा है। कमोडिटी एक्सपर्ट की माने तो गोल्ड में लंबे समय के लिए निवेश करना ज्यादा अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। जिस ढंग से महंगाई बढ़ रही है ऐसे में निवेशकों को गोल्ड में निवेश करने से डबल डिजिट में रिटर्न मिलेगा। अगर कोई निवेशक कम समय के लिए इसमें निवेश करता है तो उसे नेगेटिव इम्पैक्ट दिख सकता है। 'निवेशक अगर निवेश करना चाहता है तो लॉन्ग टर्म के लिए निवेश करे। निवेशक कम से कम 5 साल, 10 साल, 15 साल या फिर 20 साल का टारगेट लेकर चले। फिर उन्हें अच्छा रिटर्न मिलेगा।'
गोल्ड में निवेश को लेकर रिटर्न के मोर्चे पर कुछ कमी हो सकती है। उन्होंने कहा कि इक्विटी मार्केट भी तेजी से बढ़ रहा है और लोगों का रुझान भी इस और बढ़ रहा है लेकिन अगर '2000 या 2008 की तरह कोई बड़ा करेक्शन आ जाता है तो फिर गोल्ड में निवेश सबसे बेहतर साबित होगा और यह सेफ भी रहेगा।

हाउस टैक्स की बढ़ोतरी वापस लेने की मांग


गाजियाबाद। हाउस टैक्स में 25 प्रतिशत की वृद्धि और पार्षदों को 10 हजार रुपये महीना भत्ता देने के प्रस्ताव पर भारतीय कृषक समाज ने मंगलवार को नगर निगम और कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। यहां आए लोगों ने रोष जताते हुए दोनों प्रस्ताव को वापस लेने की मांग की। इस संदर्भ में नगर आयुक्त को एक ज्ञापन भी दिया गया। ज्ञापन की एक कॉपी डीएम को भी दी गई है। प्रस्ताव वापस न लेने पर बड़े आंदोलन की धमकी दी गई है। नगर निगम में ठेकेदारों से बढ़ती कमीशनखोरी पर भी लगाम लगाने और जांच कराने की मांग की गई है। 
प्रदर्शन का नेतृत्व भारतीय कृषक समाज के जिलाध्यक्ष मनोज चैधरी ने किया। उन्होंने कहा कि इस महंगाई में स्कूलों ने पहले ही फीस में 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर लोगों पर बोझ डाल दिया है। ऐसे में हाउस टैक्स में 25 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर दी गई तो लोगों पर बहुत अधिक बोझ पड़ जाएगा। उनका आरोप है कि नगर निगम एक्ट में किसी पार्षद को दस हजार रुपये महीना या अन्य किसी भत्ते के भुगतान का प्रावधान नहीं है। यह प्रस्ताव असंवैधानिक है। इस तरह का प्रस्ताव स्वीकार ही नहीं किया जाना चाहिए। नगर निगम को अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए उन्होंने निगम की जमीन को अवैध कब्जे से मुक्त कराने की मांग की है। 

बढे टैक्स से कारोबार करना मुश्किल


गाजियाबाद । कमर्षल टैक्स डिपार्टमेंट ने हाल ही में 50 करोड़ रुपये तक की टर्न ओवर वाले कारोबारियों पर 4 प्रतिषत टैक्स के स्थान पर 10 प्रतिषत टैक्स भरने की अनिवार्यता का नोटिफिकेषन जारी कर दिया है। ऐसे में कारोबारी और टैक्स एडवोकेट इसके विरोध में आ गए हैं। उनका कहना है  कि अगर टैक्स बढ़ाया तो कारोबार करना मुष्किल हो जाएगा। कमर्षल टैक्स डिपार्टमेंट में 50 करोड़ रुपये सालाना के टर्न ओवर करने वाले कारोबारियों को अभी तक 4 प्रतिषत टैक्स 4 किस्तों में देना होता था, लेकिन अब डिपार्टमेंट ने नोटिफिकेषन जारी करते हुए इसे बढ़ाकर 4 प्रतिषत से 10 प्रतिषत कर दिया है। लोहा व्यापार मंडल के अध्यक्ष षिवषंकर राठी ने बताया कि सिटी में 50 करोड़ रुपये सालाना की टर्न ओवर वाले कारोबारी बड़ी संख्या में हैं। कारोबारियों पर 4 प्रतिषत के स्थान पर 10 प्रतिषत टैक्स बढ़ना अच्छा नहीं है। इससे कारोबार करना मुष्किल हो जाएगा। ऐसे में हम इसका विरोध करेंगे। इसके बाद भी अगर अगर डिपार्टमेंट ने आदेष को वापस नहीं लिया तो कारोबारी सड़क पर उतरेंगे। वहीं टैक्स एडवोकेट अरुण कुमार गुप्ता ने बताया कि यूपी में अन्य प्रदेषों की अपेक्षा ज्यादा टैक्स है। इसके बावजूद सरकार टैक्स बढ़ा रही है। ऐसे में कारोबारियों के लिए मुष्किल हो जाएगी। सरकार और डिपार्टमेंट का यह फैसला गलत हैं। इसका विरोध किया जाएगा। वकील भी विरोध में कारोबारियों का साथ देंगे। 

Tirupati Eye

  • National Doctors Day 2020: ये हैं धरती के भगवान, नौकरी और रिटायरमेंट के बाद भी निभा रहे हैं फर्ज भगवान के बाद धरती पर अगर किसी को भगवान का दर्जा दिया जाता है तो वह हैं डॉक्टर। जिनमें बहुत से ऐसे भी हैं जो न केवल अ


  • यूपी बॉर्डर पर फंसे करीब 5000 मजदूर, गर्भवती महिलाएं और बच्चे भूख से बेहाल कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लागू है. लॉकडाउन से सबसे ज्यादा परेशनी गरीब और मजदूर वर्ग के लोगों को उठानी पड़ रही


  • ट्रंप की नई इमिग्रेशन नीति को लेकर भारत सतर्क, नीति के ऐलान का किया जा रहा है इंतजार जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगर अपने वादे के मुताबिक नौकरी की तलाश में अमेरिका आने व


  • नहाय-खाय से शुरू हुआ आस्था का महापर्व चैती छठ, जानें मुहूर्त, पूजा विधि एवं महत्व हिंदी पंचांग अनुसार, चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की षष्ठी को चैती छठ मनाई जाती है। इस साल 28 मार्च से 31मार्च के बीच च


  • आतंकवाद को खत्‍म करने के लिए पीएम मोदी बहुत सशक्‍त: ट्रंप अगले 50 से 100 वर्षों में प्रमुख खिलाड़ी बनने जा रहा है भारत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि भारत अगले 50 से 100 वर्षों में प्रम

विज्ञापनो की मम्मी

विज्ञापनो की मम्मी कितनी अच्छी होती है.

बच्चे कपड़े गंदे करके आए तो भी